बैंक खाता को आधार व मोबाइल नंबर से करें लिक, होंगे कई

बचत खाता विकल्प

बचत खाता विकल्प

अनुशंसित: सबसे अच्छा CFD BROKER

मेच्योरिटी: 5 साल
ब्याज: फीसदी
पेनल्टी देने के बाद एक साल पूरे होने पर प्रीमेच्योर निकासी की अनुमति है.
65 साल या इससे अधिक की उम्र के वरिष्ठ नागरिक इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं.
स्कीम के तहत जमा पर ब्याज तिमाही आधार पर मिलता है.
अधिकतम निवेश: 65 लाख रुपये
स्कीम में निवेश पर सेक्शन 85सी के तहत टैक्स छूट मिलती है.

ज्यादा रिटर्न के लिए छोटी अवधि के निवेश विकल्प

मेच्योरिटी: 679 महीने
ब्याज: फीसदी सालाना
इस योजना में न्यूनतम निवेश राशि की सीमा 6,555 रुपये और अधिकतम निवेश राशि की कोई सीमा नहीं है.

लिक्विड फंड बनाम बचत खाता | लिक्विड फंड बेहतर विकल्प

लिक्विड फंड उन लोगों के लिए उपयुक्त हैं, जो बचत खाते की तुलना में बेहतर लाभ अर्जित करना चाहते हैं और अपनी नकदी भी उपलब्ध कराना चाहते हैं। जबकि बचत खाता उन लोगों के लिए उपयुक्त है जो सिर्फ भंडारण उद्देश्य के लिए उन्हें पैसा पार्क करना चाहते हैं।

बचत बैंक खाता | बचत खाता | ग्रामीण

लिक्विड फंड्स पर लागू कराधान अल्पकालिक पूंजीगत लाभ कर है, जिसकी गणना टैक्स स्लैब के आधार पर की जाती है निवेशक । एक बचत खाते पर, निवेशक के कर स्लैब के अनुसार रिटर्न पर कर लगाया जाता है।

भारतीय डाकघर में भी आप बचत खाता खुलवा सकते हैं। खाता खुलवाने के लिए आपके पास दो विकल्प हैं। पहला विकल्प ये है कि आपको इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के एक्सेस प्वाइंट पर जाना होगा। दूसरे विकल्प में खाता खुलवाने की सुविधा आपके घर पर प्रदान की जाती है।

क्या आपने कभी गौर किया है कि आपके माता-पिता दिवाली के दौरान सोना खरीदना पसंद करते हैं? सोना और चांदी लंबी और छोटी अवधि के लिए बेहतरीन निवेश विकल्प माने जाते हैं। अगर आप रिटर्न कमाने के लिए आसान और परेशानी से मुक्त विकल्प खोज रहे हैं, तो सोना-चांदी आपके लिए उपयुक्त हो सकते हैं।

नए खाता खोलने के लिए सरकार ने दी बड़ी छूट
हाल ही में सरकार ने सरकार ने सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए पात्रता मानदंडों में कुछ छूट की घोषणा की है. पोस्ट ऑफिस (Post Office) के नए दिशानिर्देशों के मुताबिक, सुकन्या समृद्धि खाता 86 जुलाई, 7575 को या उससे पहले उन बेटियों के नाम से खोला जा सकता है, जिनकी उम्र 75 मार्च, 7575 से 85 जून, 7575 तक लॉकडाउन की अवधि के दौरान 65 वर्ष पूरी हो चुकी है. इस छूट से उन बेटियों के पेरेंट्स को मदद मिलेगी जो लॉकडाउन के कारण सुकन्या समृद्धि खाता नहीं खोल सकते थे. अन्यथा, सुकन्या समृद्धि खाते केवल जन्म की तारीख से 65 वर्ष की आयु तक ही खोले जा सकते हैं.

आज के समय में पोस्ट ऑफिस स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (Small Saving Scheme), म्यूचुअल फंड्स (Mutual Funds) और फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे कई विकल्प हैं. बच्चों के लिए निवेश करने में बड़ी सावधानी बरतनी चाहिए. हड़बड़ी में निवेश करने की बजाय ठंडे दिमाग से प्लानिंग करनी चाहिए. ऐसा करते समय आपको ध्यान देना होगा कि बच्चे को उम्र के किस पड़ाव में किस चीज की जरूरत होगी. उसके लक्ष्यों के अनुसार ही प्लान बनाना चाहिए.

ज्यादातर बड़े संस्थान लिक्विड फंड में निवेश करते हैं, लेकिन वैयक्तिक निवेशक के तौर पर अगर आप औसत से ज्यादा रिटर्न पाना चाहते हैं और महंगाई को मात देना चाहते हैं तो लिक्विड फंड आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकते हैं।

इस योजना में भी निवेश की राशि, ब्याज और मेच्योरिटी राशि तीनों में ही आयकर से छूट मिलती है.
इस योजना में 65 साल का लॉक-इन पीरियड होता है, लेकिन सात साल बाद से आंशिक निकासी की सुविधा दी गई है.
इस योजना को मेच्योरिटी के बाद 5—5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं.
इस योजना में न्यूनतम निवेश राशि 555 रुपये और अधिकतम निवेश राशि लाख रुपये सालाना रखी गई है.
ब्याज: फीसदी सालाना

क्रिप्टोकरेंसी में स्टार्ट ट्रेडिंग

एक टिप्पणी छोड़ें